मीडिया एडवोकेसी के वेबिनार में डा.के.के. अग्रवाल ने कहा कोरोना जांच की पीआईएल की अगली सुनवाई 22जून को. डा.अग्रवाल ने कहा कोरोना मरीज को अलर्ट करता है पल्स आॅक्सीमीटर नई दिल्ली (आरजेएस पाॅजिटिव मीडिया -नेशनल रिपोर्ट) डा. के के अग्रवाल द्वारा हाई रिस्क कोरोना मरीजों के जांच व इलाज की तरह सभी के जांच के लिए भी सुविधा हेतु डाले गए पीआईएल की आज कोर्ट में सुनवाई हुई और अगली डेट 22 जून बताई गई। डा.अग्रवाल ने बताया कि कोरोना से जंग में पल्स ऑक्सीमीटर का है अहम रोल है। 8जून 2020को मीडिया एडवोकेसी के लिए आयोजित वेबिनार में पद्मश्री से सम्मानित व आइएमए के पूर्व अध्यक्ष डॉक्टर के. के. अग्रवाल ने आॅक्सीमीटर को घर में या कम्यूनिटी में रखने की सलाह दी , इससे खुद भी जांच कर सकते हैं । ये केमिस्ट की दुकान में भी मिल जाता है । इस एक छोटे से उपकरण से समझा जा सकता है कि आपमें कोरोना का संक्रमण किस स्तर पर पहुंच चुका है। इससे वो मरीज भी पहचाने जा सकेंगे जिन्हें असल में और तुरंत वेंटिलेटर की जरूरत होती है। एक पल्स ऑक्सीमीटर एक छोटा डिवाइस है। इसे ऊंगली में क्लिप की तरह फंसाया जाता है। इसके बाद इसमें लगे सेंसर ये पता लगा पाते हैं कि खून में ऑक्सीजन का प्रवाह कैसा है। इसकी रीडिंग ऑक्सीमीटर की डिजिटल स्क्रीन पर दिखती है। स्क्रीन पर 92 से97 के आसपास डिजिट दिखे तो ये सामान्य है। वहीं, सांस से जुड़ी समस्या वाले मरीजों में ये संख्या काफी कम हो सकती है। ऑक्सीजन रीडिंग 92 और 97 के बीच होना चाहिए। 90 से कम हो तो डाॅक्टर को तुरंत दिखाएं । यह डिवाइस आपके हार्ट रेट को भी दिखाएगा। वयस्कों में सामान्य हार्ट रेट लगभग 60 से 100 बीट प्रति मिनट तक होती है। कोरोना के इलाज को लेकर डा. अग्रवाल के पीआइएल की आज कोर्ट में सुनवाई भी थी।अगली डेट 22जून है। वेबिनार में डा.अग्रवाल ने तीन टीप्स दिए- क्या मैं कोविड-19 पाॅजिटिव हूं या नहीं ? दूसरा -क्या मेरा वातावरण संक्रमण के खतरे में है? तीसरा- क्या मैं इसे झेलने के लिए तैयार हूं? तैयारी क्या है? डा.अग्रवाल ने कहा कि कोरोना पाॅजिटिव के मरीज को तबतक एंबुलेंस से उतरने की जरूरत नहीं है जबतक अस्पताल में बेड नहीं मिल जाए। ऐसे मरीजों के लिए आॅसीजन लाइफलाइन है। डा. के के अग्रवाल पिछले ढाई महीने से रोज़ाना वेबिनार और फेसबुक आदि के माध्यम से एक मिलियन लोगों को जागरूक करते हैं। वेबिनार को डा कालरा ने भी संबोधित किया। विभिन्न मीडिया संस्थानों के पत्रकार धनंजय , श्रीकांत भाटिया,उमेश सिंगला सहित आरजेएस पाॅजिटिव मीडिया के प्रमुख दिल्ली से उदय कुमार मन्ना, मध्य प्रदेश से पत्रकार आशीष पाण्डेय , उत्तर प्रदेश से पत्रकार प्रखर वार्ष्णेय, आदि कई राज्यों के पत्रकारों ने भाग लिया। वेबिनार का समापन टाॅकिंग प्वाइंट की हेड नैना अग्रवाल के धन्यवाद ज्ञापन से हुआ। उन्होंने कहा कि मीडिया एडवोकेसी का वेबिनार प्रत्येक सोमवार ग्यारह बजे से आयोजित करने की घोषणा की‌।

Posted By: