नई दिल्ली। (संवाददाता)नई दिल्ली के प्रगति मैदान में चार जनवरी से 12जनवरी तक आयोजित विश्व मेले में इस बार महात्मा गाँधी के विचारों को समर्पित रही, इसी क्रम में शनिवार को विश्व पुस्तक मेला में पुस्तकों के महाकुंभ में शामिल होने भारी संख्या में पुस्तक प्रेमी आए नई दिल्ली विश्व पुस्तक मेला की मुख्य आयोजक संस्था राष्ट्रीय पुस्तक न्यास की निदेशक नीरा जैन और लेखकों ने "द बुक लाइन" के‌ स्टाॅल पर RJS की 124वीं सकारात्मक बैठक में विवेकानंद और शास्त्री जी को श्रद्धांजलि दी. इस अवसर पर पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री के सुपुत्र श्री अनिल शास्त्री ने फोन पर अपने पिताजी के बारे में संस्मरण सुनाए। द बुक लाइन के प्रकाशक सुनील भनोट ने बताया कि बैठक में राष्ट्रीय युवा दिवस 12जनवरी स्वामी विवेकानंद की जयंती के उपलक्ष्य में व पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न लाल बहादुर ‌शास्त्री जी की पुण्यतिथि 11जनवरी को द बुक लाइन की तीन नई अंग्रेजी पुस्तकों के कवर पृष्ठ का विमोचन व पुस्तक चर्चा की गई। आरजेएस राष्ट्रीय संयोजक उदय मन्ना ने बताया कि सकारात्मक भारत आंदोलन के अंतर्गत पुस्तक मेला 4से 12जनवरी को समर्थन है । मेला की आयोजक संस्था राष्ट्रीय पुस्तक न्यास की निदेशक नीरा जैन ने कहा कि स्वामी विवेकानंद और शास्त्री जी को मेले में याद करना एक सकारात्मक कदम है और नई पीढ़ी तक उनके संदेश पहुंचाने के लिए द बुक लाइन और टीम आरजेएस पाॅजिटिव मीडिया का प्रयास सराहनीय है।द बुक लाइन के प्रकाशक सुनील भानोट ने कहा कि मेले में चार नई किताबों‌ का लोकार्पण 5जनवरी को हुआ था आज तीन पुस्तकों के कवर पेज का अनावरण ‌हुआ।ये पुस्तकें हैं प्रसिद्ध लेखक सम्मी सुख लिखित हंड्रेड सेकरेट्स आफ विनिंग ,मोटिवेशनल है तो आर के समतानी लिखित* *इनोवेटिव अप्रोच टुवर्ड्स ऑपरेशनलाइजिंग गैस डिस्ट्रीब्यूशन नेटवर्क्स एक बेहतरीन तकनीकी जानकारी मुहैया कराती है।* *वहीं दीपांशु पराशर लिखित ईरा ऑफ नेटिजन्स -अ स्टेप टूवार्ड्स सेफर यूज आॅफ इंटरनेट्स युवा पीढ़ी को इंटरनेट्स के डूज और डाॅन्ट्स बताती है।* बैठक में सभी लेखकों सहित मुकेश भटनागर ने भी अपनी पुस्तक से परिचय संबोधित किया। इस अवसर पर लेखक प्रदीप खरे , मीना कुमारी ,द्वारका परिचय हेड संजय मिश्रा, मीडिया वर्कशॉप गुरू एस एस डोगरा और समाजसेवी एस एस चौहान सहित टीम आरजेएस पाॅजिटिव मीडिया व मेला दर्शक उपस्थित थे।

Posted By: