नई दिल्ली- (अबतक खबरें)'युग संस्कृति न्यास' के बाराखंभा स्थित मुख्य कार्यालय में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस का आयोजन किया गया। इसके बाद बिहार में आई भीषड बाढ़ से बेघर हुए लोगों के लिए दो ट्रक राहत सामग्री भेजी गई। जो बिहार स्थित संस्था के चार प्रमुख केंद्रों मोतिहारी, दरभंगा, पूर्णिया एवं मुजफ्फरपुर पहुंचेगी। यह राहत सामग्री यहां से सभी बाढ़ प्रभावित जिलों तक पहुंचाई जाएगी। इन ट्रकों को युग संस्कृति न्यास के संचालक आचार्य धर्मवीर एवं एनडीआरएफ के पूर्व डीजी संजय कुमार ने हरी झंडी दिखा कर रवाना किया। इस दौरान संस्था के ट्रस्टी अमरेंद्र कुमार, अमित रॉय, विकास मणि, डॉ रजनीश, इंजीनियर संजीव सिंह, जयमंगला कावर फाउंडेशन के अध्यक्ष राजेश राज, जे के अग्रवाल, समेत संस्था के कई प्रमुख लोग मौजूद रहे। युग संस्कृति न्यास द्वारा भेजे गए राहत सामग्री में चिउड़ा-पोहा, गुड़, भुना हुआ चना, बिस्किट, मोमबत्ती, माचिस, ओआरएस, मॉर्टिन, पानी साफ करने वाला टैबलेट, सैनिटरी नैपकिन, मास्क, साबुन, मच्छरदानी, चप्पल, आदि सामग्री शामिल है। इस दौरान युग संस्कृति न्यास के संस्थापक आचार्य धर्मवीर ने कहा कि बिहार में आई भीषड बाढ़ की वजह से लाखों लोग बेघर होकर सड़क के किनारे और अन्य जगहों पर रहने के लिए मजबूर हैं। ये लोग खाने पीने से लेकर अन्य प्रकार की समस्याओं से जूझ रहे हैं। ऐसे में बिहार के बाढ़ प्रभावित जिलों से सैकड़ों लोगों ने संस्था के स्वयंसेवकों को मदद करने का आह्वान किया। जिसे देखते हुए हमने राहत सामग्री भेजने का निर्णय लिया। उन्होंने बताया कि वे खुद बाढ़ प्रभावित लगभग सभी जिलों के जिलाधिकारियों एवं एस पी से सम्पर्क में हैं और इस राहत कार्य में उनका भी भरपूर सहयोग मिल रहा है। उन्होंने बताया कि युग संस्कृति न्यास के समाजसेवी पहले से ही बिहार के मोतिहारी, दरभंगा, पूर्णिया, और मुजफ्फरपुर केंद्रों से बाढ़ प्रभावित सभी जिलों में युद्ध स्तर पर राहत कार्य में लगे हुए हैं। और लोगों को खाना खिलाने समेत अन्य मदद पहुंचा रहे हैं। आचार्य ने कहा कि इस कार्य को आगे बढ़ाते हुए अगले दस दिन के अंदर और 10 से 12 ट्रक बिहार भेजने की योजना है। साथ ही हमने बिहार में बाढ़ खत्म होने के बाद लोगों के पुनर्वास में मदद करने की भी योजना बनाई है। आचार्य धर्मवीर ने बताया कि समाजसेवी संगठन आईना की संचालिका अवनी गुप्ता, जनमन के संचालक शौर्या रॉय व योगेश गुप्ता आदि लोगों का सहयोग हमारे कार्यों को आगे बढ़ाने में विशेष मदद कर रहा है। एनडीआरएफ के पूर्व डीजी संजय कुमार ने कहा कि युग संस्कृति न्यास के स्वयंसेवी स्थानीय प्रसाशन और समाजसेवियों के साथ मिलकर वहां के लोगों की समस्याओं को नजदीक से समझ रहे है और वहां की आवश्यकताओं को हमें बता रहे हैं। जिसके समाधान के लिए हम यहां से संसाधन भेज रहे हैं। इस दौरान ट्रस्ट के पदाधिकारियों ने लोगों का आह्वान किया कि वे भी बिहार के बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए आगे आएं।

Posted By: