कोरोना की जानकारी और लाँकडाउन के दौरान सहायता के लिए वाट्सएप नंबर 8800007722 जारी - अरविंद केजरीवाल - कल (04 अप्रैल) दोपहर 3 बजे पैरेंटिंग इन द टाइम आँफ कोरोना विषय पर आँनलाइन आयोजित कार्यक्रम में दिल्ली के स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चे और अभिभावक अपने सवाल पूछ सकेंगे - अरविंद केजरीवाल - दिल्ली में मरकज के मरीजों की वजह से एकदम से कोरोना के मामलों में बढ़ोत्तरी हुई है, लेकिन अभी यह फैल नहीं रहा है- अरविंद केजरीवाल - दिल्ली सरकार 1780 केंद्रों पर खिला रही खाना, 328 स्थानों पर 57 हजार से अधिक लोगों के रहने की व्यवस्था की गई है, जहां 11 हजार से अधिक लोग रह रहे- अरविंद केजरीवाल नई दिल्ली, 03 अप्रैल, 2020 दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कोरोना से संबंधित की जानकारी और सहायता प्राप्त करने के लिए वट्सएप नंबर 8800007722 जारी किया है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि इस नंबर पर Hi या Hello लिख कर भेजने पर कोरोना संबंधित सभी जानकारी मिल जाएगी। साथ ही दिल्ली सरकार ने क्या व्यवस्थाएं की है, इसकी भी जानकारी मिलेगी। कल दोपहर 3 बजे पैरेंटिंग इन द टाइम आँफ कोरोना विषय पर आँनलाइन कार्यक्रम आयोजित होगा। जिसमें मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और कुछ विशेषज्ञ दिल्ली के स्कूलों में पढ़ने वाले 44 लाख बच्चे और उनके अभिभावक सवाल पूछ सकेंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि दिल्ली में मरकज के मरीजों की वजह से एकदम से कोरोना के मामलों में बढ़ोत्तरी हुई है, लेकिन अभी कोरोना फैलना शुरू नहीं हुआ है। दिल्ली सरकार ने लाॅक डाउन की वजह से प्रभावित गरीब लोगों को 1780 केंद्रों पर खाना खिलाने की व्यवस्था की है और 71 लाख राशन कार्ड धारकों में से अब तक करीब 60 प्रतिशत लोगों को राशन दे चुकी है। दिल्ली में पिछले 24 घंटे में करोना के 91 मामले बढ़े, लेकिन अभी भी स्थिति नियंत्रण में- अरविंद केजरीवाल मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि आज दिल्ली में अभी तक कुल 384 कोरोना के मरीज हुए हैं। कल तक यह 293 थे। पिछले 24 घंटे में 91 और कोरोना के मरीज बढ़ गए हैं। एकदम से देखने में यह काफी चिंताजनक स्थिति लगती है। 348 मरीजों में से 58 मरीज विदेशी यात्रा वाले हैं। यह वे लोग हैं, जो पिछले दो महीने में विदेश यात्रा की थी और वहीं से कोराना लेकर आए थे। इनमें से कई लोग दिल्ली के भी नहीं हैं। फिर भी इनमें कोरोना के लक्षण मिलने पर इन्हें दिल्ली में विभिन्न अस्पतालों में रख कर क्वारंटाइन किया गया है। इनको यह बीमारी दिल्ली में नहीं लगी है। 259 मरीज मरकज वाले हैं। जो लोग विदेश से यात्रा करके आए और अपने परिवार में कोरोना फैला दिया है, ऐसे 38 लोग हैं। एक तरह से दिल्ली के अंदर कोरोना एक-दूसरे से संपर्क करने से मात्र 38 लोगों में फैला है। यह आंकड़ा ज्यादा नहीं बढ़ी है। यही पर थोड़ी उम्मीद की किरण नजर आ रही है कि दिल्ली में कोरोना अभी फैलना शुरू नहीं हुआ है। दिल्ली सरकार, दिल्ली की जनता और केंद्र सरकार के प्रयास से जो लोग भी विदेश से कोरोना लेकर आए, उसको आगे फैलने से रोका गया है। दिल्ली में कोरोना की वजह से अब तक 5 लोगों की मौत हो चुकी है। कल तक यह आंकड़ा 4 था। आज जिस व्यक्ति की मौत हुई है, वह मरकज से निकाले गए लोगों में शामिल था। हमारे जितने भी मरीज अस्पताल में हैं, उनमें से दो मरीजों को वेंटिलेटर पर रखा गया है। जिनकी स्थिति हम नाजुक कह सकते हैं। भगवान से प्रार्थना है कि वे भी ठीक हो जाएंगे। शेष मरीजों की हालत स्थिर दिख रही है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि कल मैने कहा कि था कि दो बातें महत्वपूर्ण है। एक यह कि कोरोना कितनी तेजी से फैल रहा है और इससे कितने लोगों की मौत हो रही है। दिल्ली के परिप्रेक्ष्य में यह दोनों स्थिति अभी नियंत्रण में है। अभी घबराने की जरूरत नहीं है। लेकिन प्रधानमंत्री जी ने जो लाॅक डाउन का एलान किया है, उसको बहुत इमानदारी के साथ पालन करते रहना है। यह कब फैल जाए, किसी को पता भी नहीं चलता है। हमें दूसरे देशों से सीख कर सामाजिक दूरी और लाॅक डाउन का पूरी तरह से पालन करना है। मैं लगातार डाॅक्टरों के संपर्क में हूं। भगवान न करे कि कोरोना फैले और अगर कोरोना फैलता है, तो उसके लिए भी हम तैयार हैं। 1780 केंद्रों पर कल 6.5 लाख से अधिक लोगों को लंच और डिनर कराया जा रहा - अरविंद केजरीवाल मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि लाॅक डाउन की वजह से गरीबों को परेशानियां हो रही हैं। उन परेशानियों को दूर करने के लिए दिल्ली सरकार ने कई सारे कदम उठाए हैं। जिनके पास राशन कार्ड हैं, ऐसे 71 लाख लोगों को हम 7.5 किलोग्राम मुफ्त में राशन दे रहे हैं। सभी राशन की दुकानों से राशन मिलना शुरू हो गया है। करीब 60 प्रतिशत लोगों को राशन मिल भी चुका है। अगले चार-पांच दिन के अंदर बचे 40 प्रतिशत लोगों को भी राशन दे दिया जाएगा। जिन लोगों के पास राशन कार्ड नहीं है। जो लोग गरीब हैं, उनको भी दिल्ली सरकार ने राशन देने की योजना बनाई है और अगले दो-तीन दिन में हम राशन देना शुरू कर देंगे। दिल्ली सरकार 8 लाख बुजुर्गों, विधवाओं और विकलांगों को 5-5 हजार रुपये पेंशन दे चुकी है और अभी 5-5 हजार रुपये और अगले सप्ताह तक उनके खाते में भेज दिए जाएंगे। दिल्ली में निर्माण कार्य से जुड़े लगभग सभी लोगों को भी 5-5 हजार रुपये दे रहे हैं, ताकि उन्हें भी मदद मिल सके। इसके साथ ही आॅटो, ई-रिक्शा, ग्रामीण सेवा और आरटीवी समेत पब्लिक सेवा से संबंधित वाहनों के चालकों को भी 5-5 हजार रुपये दिए जा रहे हैं, ताकि उन्हें भी कोई दिक्कत नहीं हो। इसके अलावा, गरीब लोगों को खाने की कोई दिक्कत न हो। दिल्ली में कोई भूखा नहीं रहे। इसके लिए दिल्ली में 1780 केंद्रों पर लंच और डिनर दिया जा रहा है। कल 1780 केंद्रों पर 652850 लोगों ने लंच किया। इसी तरह 630000 लोगों ने रात में डिनर किया। जैसा कि हमने बताया था कि दिल्ली सरकार के पास अब 10 लाख लोगों खाने का इंतजाम है, लेकिन अब खाना खाने के लिए लोग कम आ रहे हैं, बल्कि खाना खाने के केंद्र अधिक हैं। दिल्ली से पलायन करके जो लोग अपने घर जाना चाहते थे। इन लोगों को हमने सांत्वना दी थी कि रहने का इंतजाम है। जिसके बाद यह लोग रूक गए। इनके पास रहने के लिए छत नहीं है। ऐसे लोगों के लिए 328 स्थानों पर रहने का इंतजाम किया है। इन 328 केंद्रों पर 57270 लोगों के रहने का इंतजाम किया है। अभी वहां पर केवल 11443 लोग रह रहे हैं। अभी हमारे पास बहुत सारे लोगों के रहने का इंतजाम है। दिल्ली सरकार के जारी वट्सएप नंबर से कोरोना से संबंधित जानकारी प्राप्त कर सकते हैं- अरविंद केजरीवाल मुख्यंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली सरकार ने एक वट्सएप नंबर जारी किया है। इस वट्सएप नंबर को अपने मोबाइल में सुरक्षित कर लें। इस नंबर पर आप कोरोना से संबंधित जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। जब आप इस नंबर पर Hi या Hello लिख कर भेजेंगे, तो आपको जवाब में मैन्यू आ जाएगा और उस मैन्यू के आधार पर आप आगे इसे आॅपरेट कर सकते हैं। इससे आप कहां-कहां खाना मिल रहे हैं, कोरोना के क्या लक्षण हैं, करोना के बारे में दिल्ली सरकार की क्या-क्या व्यवस्था है, यह सभी जानकारी आप प्राप्त कर सकते हैं। यह वट्सएप नंबर 8800007722 है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली सरकार के स्कूलों, प्राइवेट, सरकारी और नगर निगम समेत सभी स्कूलों में करीब 44 लाख बच्चे पढ़ते हैं। यह सभी बच्चे अपने घरों बैठे हैं। अपने अभिभावों से तरफ-तरह के सवाल पूछ रहे हैं। अभिभावकों को समझ नहीं आ रहा है कि वे बच्चों को किस तरह समझाएं। लिहाजा कल (04 अप्रैल) दोपहर 3 बजे मैं, उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया जी और कुछ विशेषज्ञ बैठेंगे, जो बच्चों और अभिभावकों के सवालों के जवाब देंगे। बच्चों के मन में बहुत सारे सवाल हैं। मसलन, कोरोना क्या है? कैसे फैलता है? इसलिए पैरेंटिंग इन द टाइम आॅफ कोरोना (Parenting in the time of Corona) विषय पर मैं, मनीष सिसोदिया जी और विशेषज्ञ बच्चों और अभिभावकों के सवालों के जवाब देंगे।

Posted By: अशोक धवन